Simsa mata mandir famous for

जय सिमसा शारदा माता

नि:संतान के घर संतान देने वाली माता सिमसा शारदा

भारतवर्ष में ऐसे अनेकों शक्ति पीठ हैं| जिनमें एक एेसा शक्ति पीठ जहाँ नि:संतान महिलाओं को संतान सुख प्राप्त होता है | यह मंदिर हिमाचल प्रदेश के जिला मंडी तहसील लड भडोल के सिमस गाँव में स्थित है | यह बैजनाथ से 30.कि.मी. की दूरी पर स्थित है | यहाँ हर वर्ष संतान सुख पाने के लिए हजारों महिलाएं भारतवर्ष के हरेक राज्य से आती हैं | संतान सुख पाने की प्रकिया कुछ इस तरह होती कि महिलाएं मंदिर में फर्श पर सोती हैं | जिस दौरान उन्हें कुछ भी खाने की इजाजत नहीं होती | इसी प्रकिया के दौरान माता शारदा उन महिलाओं के सपने में आती हैं और कोई फल देगी उदाहरण : आम, केला,सेब,अनार,या कोई भी फल व मेवा अखरोट, बादाम, आदि व सपने में बचा भी देती है | फिर इस फल को उस महिला व उसके पति ने तब तक नही खाना होता है जब तक उसे संतान नहीं होती | संतान होने के बाद इस फल को जो सपने में दिया है मंदिर में चढाना पडता है | तब फल खाने की इजाजत मिलती है |संतान प्राप्ति के लिए आने वाली महिलाएं अपने साथ घघरी(घाघरा) या पेटीकोट, लौटा व जरूरत अनुसार कंबल लेकर आवश्य आएं 28 मार्च 2017 से हर वर्ष की भाँति माता के नवरात्रे शुरू हो रहे हैं | नवरात्रों में शारदा माता मंदिर कमेटी की तरह से नि:शुल्क भोजन व रहने की व्यवस्था है | मंदिर में उचित भंडारा व सऱाएं की सुविधा भी उपलब्ध है |मंदिर में आने वाले भक्त अधिक जानकारी के लिए मंदिर कमेटी पुजारी व सचिव सुरेश कुमार से कभी भी संपर्क कर सकते हैं | मोबाइल नंबर -9817733370, 9418631374

सिमसा शारदा माता पिंडी रूप में विराजमान है |यह मंदिर लगभग 400 वर्ष पुराना है और माता द्वारा संतान देने का सिलसिला भी 400 वर्षों से चला आ रहा है |

कैसे पहुंचे-

रेल मार्ग : पठानकोट रेलवे स्टेशन देश के लगभग सभी भागों से जुड़ा है | फिर आप पठानकोट स्टेशन से जोगिन्दर चलने वाली छोटी ट्रेन से पपरोला / बैजनाथ स्टेशन उतर कर और कार या बस से सिमसा माता मंदिर जा सकते हैं |

सड़क मार्ग : पठानकोट – मनाली हाईवे से भी आप बैजनाथ पहुंच सकते है ,दिल्ली और चंडीगढ़ से बैजनाथ के लिए वॉल्वो और साधारण बहुत सी बसे चलती हे।बैजनाथ से इसकी केवल 30 किमी दूर है

हवाई मार्ग : गगल धर्मशाला सबसे नजदीक एयरपोर्ट है | यह दिल्ली से दो प्रतिदिन फ्लाइट्स की सुबिधा है |